top of page

Pyaasa Graha | प्यासा ग्रह का फलित | ग्रह कर्क,वृश्चिक और मीन राशि फलित |


कुंडली मे प्यासा ग्रह क्या होता है ? ज्योतिष मे फलित करते समय कैसे देखें तृषित ग्रह | कुंडली मे गुरु प्यासा रह जाए तो क्या होता है | कुंडली मे मंगल प्यासा हो तो विवाह पर क्या असर होता है? ज्योतिष मे उच्च शुक्र यदि प्यासा रह जाए तो फलित कैसे करें | If a graha is in a watery rashi, and receives a drishti from a malefic, but does not receive a drishti from a benefic, the Avastha is called Trushita. यदि ग्रह जलीय राशि मे स्थित हो, और पापी ग्रह से दृष्ट हो| किसी भी शुभ ग्रह की दृष्टि उस पर न हो तो ग्रह तृषित (प्यासा) कहलाता है| ज्योतिष एक अथाह सागर है जिसमे कई ज्योतिष के नियम छिपे हुए है इस चैनल पर प्रसारित video कुंडली के अलग अलग रहस्यों को उजागर करती है चाहे वह वक्री ग्रह हो, अस्त ग्रह हो, नीच ग्रह का प्रभाव हो, साढ़े साती हो या मांगलिक दोष | इनके पीछे के कारण और उनके निवारण इस चैनल पर मिल जाएंगे| जन्म कुंडली मे मंगल का 12 भावों मे प्रभाव, 12 राशियों को कैसे देखा जाता है, 9 ग्रह किस प्रकार आपकी कुंडली के फलित पर असर डालते है यही सब इस चैनल पर उपलब्ध है|

Σχόλια


Featured Posts
Recent Posts
Archive
Search By Tags
Follow Us
  • Facebook Basic Square
  • Twitter Basic Square
  • Google+ Basic Square
bottom of page