पितृ दोष के लिए स्तुति (केवल 2 मिनिट में)

पितृ पक्ष आरम्भ होने जा रहे है| पितृ पक्ष में की गयी पितरो की पूजा का फल कई गुणा मिलता है| मार्कंडेय पुराण में निहित इस स्तुति के पाठ से पितृ गण प्रसन्न होते है और पितृ दोष कम होता है | आने वाले पितृ पक्ष में दक्षिण दिशा की ओर मुख कर इस स्तुति का नियमित पाठ करें| मन ही मन उनकी मंगल कामना करें और आपके परिवार द्वारा अनजाने या जानबूझकर दिए गए कोई भी कष्ट के लिए क्षमा मांगे | Astro Life Sutras कामना करता है की पितृ पक्ष आपके लिए शुभ रहे |

पितृ स्तुति (श्राद्ध पक्ष में)

अर्चितानाममूर्त्तानाम पितृणां दीप्ततेजसाम् |

नमस्यामि सदा तेषां ध्यानिनां दिव्यचक्षुषाम् ||

इन्द्रादीनां च नेतारो दक्षमारीचयोस्त्तथा |

सप्तर्षिणां तथान्येषां तान् नमस्यामि कामदान्||

मन्वादीनां मुनीन्द्राणां सूर्य चन्द्रमसोस्तथा |

तान् नमस्यामहं सर्वान् पितृनप्सूदधावपि ||

नक्षत्राणां ग्रहाणां च वायव्यग्न्योर्नभसस्तथा |

द्यावापृथिव्योश्च तथा नमस्यामि कृतांजलिः ||

देवर्षीणां जनितृश्र्च सर्वलोकनमस्कृतान् |

अक्षय्यस्य सदा दातृन् नमस्येऽहं कृतान्जलिः ||

........(शेष भाग के लिए क्लिक करें |)

Featured Posts
Recent Posts
Archive
Search By Tags
Follow Us
  • Facebook Basic Square
  • Twitter Basic Square
  • Google+ Basic Square

Call

T: 91-9821820026

    91-9999486218 

  • Facebook Astro Life Sutras
  • YouTube Social  Icon
  • Twitter Social Icon
  • Google+ Social Icon