दीवाली रात्रि पूजा का मुहूर्त 2019

इस वर्ष दीपावली का पूजन 27 अक्टूबर 2019 को कार्तिक कृष्ण पक्ष अमावस्या दोपहर 12 बजकर 22 मिन्ट से प्रांरभ हो रही है शास्त्रों में उल्लेख है कि जब कार्तिक मास की अमावस्या की रात्रि के समय स्थिर लग्न में ( बृषभ ,सिंह) माता लक्ष्मी का पूजन करना चाहिए ऐसी माना जाता है कि रात्रि काल में स्थिर लग्न में लक्ष्मी पूजन से धन की स्थिरता रहती है|

लक्ष्मी पूजन प्रदोष युक्त अमावस्या तिथि स्थिर लग्न ,स्थिर नवमांश में किया जाए तो विशेष सिध्दिदायक होती है|

दिवाली पूजा का समय

पूजन महूर्त समय

  • प्रदोषकाल का समय शाम 17 बजकर 07 मिन्ट से रात्रि 19 बजकर 52 मिनट तक

  • बृषभ लग्न शुभ समय शाम 18 बजकर 47 मिनट से 20 बजकर 40 मिनट तक

  • सिंह लग्न रात्रि 01 बजकर 13 मिनट से रात 03 बजकर 25 मिनट तक

सिंह लग्न में लग्नेश सूर्य नीच भंग राजयोगकारक बना रहा है यह आत्मबल ,शांति एवं व्यक्तितत्व बढ़ाने वाला है पराक्रम भाव में नीच भंग का कारक शुक्र ग्रह स्वराशि में चन्द के साथ युति बनाए है और लग्न से कर्मेश होकर विलासता ,ऐश्र्वर्य , देने वाला है लग्न का स्वयं पराक्रम में कर्मेश से युति बनाना एक विशेष योग दर्शता है बिना पराक्रम के धन नही कमाया जा सकता है| इन सब कारणों से दीपावली पूजन सिंह लग्न में श्रेष्ठ मानी गई है|

Featured Posts
Recent Posts
Archive
Search By Tags
Follow Us
  • Facebook Basic Square
  • Twitter Basic Square
  • Google+ Basic Square